गूगल मैप के भरोसे थे, नहर में जा गिरी एसयूवी

गूगल मैप

केरल में पर्यटक समूह का वाहन पानी में डूबा, पर्यटकों को लोगों ने बचाया भारी बारिश के दौरान गूगल मैप पर निर्भर रहना खतरनाक हो सकता है।

कोट्टायम (केरल)। ए। हैदराबाद से आये पर्यटकों का एक समूह संभवतः ‘गूगल मैप’ का उपयोग करने के बाद दक्षिण केरल के कोट्टायम जिले में कुरुप्पनथारा के निकट एक नहर में प्रवेश कर गया। यह घटना शुक्रवार देर रात हुई, जब एक महिला समेत चार सदस्यीय समूह अलप्पुझा की ओर जा रहा था। पुलिस ने दावा किया कि जिस मार्ग से वे यात्रा कर रहे थे उस पर, भारी बारिश के कारण जल धारा का पानी भर गया था। उसने बताया कि चूंकि पर्यटक इस क्षेत्र से अनजान थे, इसलिए गूगल मैप का उपयोग कर यात्रा करते समय वे वाहन समेत गहरे पानी में प्रवेश कर गए।

नजदीक मौजूद पुलिस गश्ती दल और स्थानीय निवासियों के प्रयासों के कारण चारों पर्यटकों को बचा लिया गया, लेकिन उनका वाहन पूरी तरह से पानी में डूब गया। घटना शुक्रवार देर रात करीब 2 बजे की है जब एक महिला समेत चार सदस्यीय समूह अलाप्पुझा की ओर जा रहा था। उन्होंने बताया कि जिस सड़क पर वे यात्रा कर रहे थे उस पर भारी बारिश के कारण काफी पानी एकत्र हो गया था। चूंकि पर्यटक इस क्षेत्र से अपरिचित थे, इसलिए गूगल मानचित्र का उपयोग करके यात्रा करते समय वे एक जगह वाहन समेत गहरे पानी में चले गए।

इसे भी पढ़े:- बेमेतरा के बारूद फैक्ट्री में भीषण विस्फोट 12 लोगो की मौत? मलबे में दबे कई मजदूर

गूगल मैप पर निर्भरता खतरनाक भी

अक्सर अनजान जगहों पर यात्रा करते समय मंजिल तक पहुंचने के लिए लोग गूगल मैप पर निर्भर रहते हैं। मगर हर समय गूगल मैप पर निर्भर रहना खतरे से खाली नहीं है।

पिछले साल दो डाक्टरों की हुई थी मौत

केरल में इस तरह की यह पहली घटना नहीं है। पिछले साल अक्टूबर में दो युवा चिकित्सकों की एक कार दुर्घटना में मौत हो गई थी। यात्रा के दौरान कथित तौर पर गूगल मानचित्र का उपयोग करने के कारण यह कार एक नदी में गिर गई थी। घटना के बाद, केरल पुलिस ने मानसून के मौसम के दौरान मैप का उपयोग करने के लिए सावधानी दिशा-निर्देश जारी किए थे।

Leave a Reply