बेमेतरा के बारूद फैक्ट्री में भीषण विस्फोट 12 लोगो की मौत? मलबे में दबे कई मजदूर

बेमेतरा के बारूद फैक्ट्री में भीषण विस्फोट

बेमेतरा के बारूद फैक्ट्री में भीषण विस्फोट:- सीएम साय ने दंडाधिकारी जांच के आदेश दिए, गंभीर रूप से घायल 7 मजदूर रायपुर रेफर, एक की इलाज के दौरान मौत

बेमेतरा जिले के बेरला ब्लॉक के ग्राम पिरदा में संचालित स्पेशल ब्लास्ट लिमिटेड कंपनी की बारूद फैक्ट्री में शनिवार सुबह करीब 8 बजे भीषण विस्फोट हो गया। धमाका इतना जबर्दस्त था कि कुछ ही सेकंड में फैक्ट्री की पूरी इमारत ताश के पत्तों की तरह वह गई। हादसे में 10 से 12 मजदूरों की मौत होने की आशंका जताई जा रही है। हालांकि इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं हो पाई है। विस्फोट इतना तगड़ा था कि पास के सीसीटीवी टीवी से लिया गया फुटेज भी हिलता हुआ दिखाई दे रहा है। विस्फोट की आवाज करीब 5 किलोमीटर। दूर तक सुनाई दी। घटनास्थल में मलबे के साथ चारों तरफ शरीर के चिथड़े। बिखरे हुए हैं। गंभीर रूप से घायल हुए 7 मजदूरों को रामपुर रेफर कर दिया गया, जिनमें से एक की मौत हो गई, वहीं 6 का उपचार जारी है। घटना का कारण अब तक स्पष्ट नहीं हो पाया है। फायर ब्रिगेड, एसटीआरएफ की टीम, कलेक्टर, एसपी समेत शासन-प्रशासन के आला अधिकारी मौके पर डटे हुए हैं। बचाव कार्य तेजी से जारी है। सीएम विष्णुदेव साय ने घटना की दंडाधिकारी जांच के आदेश दिए हैं। कलेक्टर ने एक मजदूर की मौत और 6 घायल होने की पुष्टि की है। जबकि मौके पर और कितनी मौल हुई है, यह कोई बताने की स्थिति में नहीं है। मिली जानकारी के अनुसार रोजाना की तरह मजदूरों ने फैक्ट्री में काम शुरू ही किया था कि लगभग 8 बजे तेज आवाज के साथ जोरदार ब्लास्ट हो गया। इससे मजदूरों की आंखों के सामने अंधेरा छा गया। इसके पहले कि ये कुछ समझ पाते, चारों ओर चीख-पुकार मच गई।

घटना के बाद फैक्ट्री का पूरा स्टाफ गायब

बारुद फैक्ट्री में विस्फोट होने के बाद मैनेजर, कार्यालय कर्मचारी, गेटकीपर और सुरक्षा गार्ड मौके का फायदा उठाकर भाग गए। बारूद फैक्ट्री में बनास्ट को घटना से आसपास के गांव के मकान हिल गए।

तीन घंटे बाद पहुंचा बचाव दल, बिफरे लोगों ने की आगजनी

घटना की सूचना मिलने के बाद बचाव दल को पहुंचने में तीन घंटे से ज्यादा समय लग गया। तब तक वहां हो-हल्ला मचा रहा। घायलों के पट्टी बांधकर जख्मों से बहते खून को रोकने का प्रयास करते रहे। वहीं मौके पर जुटे आक्रोशित ग्रामीण फैक्ट्री मालिक के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। बचाव कार्य में होते विलंब पर उन्होंने फैक्ट्री के गोदाम में रखे मटेरियल में आग लगा दी, जिसे फायर ब्रिगेड की मदद से बुझाया गया।

विस्फोट के बाद ताश के पत्ते की तरह ढही दोमंजिला फैक्ट्री आधे किलोमीटर तक बिखरा मलबा 25-30 फीट गहरा गड्डा हुआ

दुर्ग जिले से एसडीआरएफ टीम के प्रभारी ईश्वर खरे ने बताया कि उनकी 13 सदस्यीय टीम विस्फोट स्थल पर बच्चाव अभियान में लगी हुई है। विस्फोट में दो जिला इमारत बह गई। मलबे में फंसे लोगों का तलाशी अभियान जारी है। विस्फोट के कारण घटनास्थल पर 25-30 फीट गहरा गड्ढा हो गया है।

सीएम साय ने दिए दंडाधिकारी जांच के आदेश

मुख्यमंत्री विष्णुदेष साय ने पिरया गांव स्थित बारूद फैक्ट्री में हुए विस्फोट मामले के दंडाधिकारी जांच के आदेश दिए है। उन्होंने बताया कि दुर्घटना में हुई मौत पर मृतक के परिजनों को 5 लाख रुपए एवं घायलों को 30 हजार रुपए आर्थिक सहायता देने के आदेश भी दे दिए गए हैं। घायलों को समुचित इलाज के लिए रायपुर लाया गया है। मौके पर राहत एवं बचाव कार्य की उच्वस्तरीय निगरानी की जा रही है।

Leave a Reply